इन 5 देशों की सीमा पर नहीं है कोई सेना, दूसरे देश करते है इनकी सुरक्षा

आज के समय में देखा जाता हैं कि देश कि सीमा पर दूसरे देश से विवाद चलता रहता हैं जिसपर नियंत्रण रखने और देश की सेवा करने के लिए सेना के जवान सीमा पर तैनात रहते हैं। हर देश को आंतरिक और बाहरी सुरक्षा की जरूरत होती है जिसके लिए पुलिस और सेना की जरूरत पड़ती हैं। लेकिन आज के समय में भी कुछ देश ऐसे हैं जिनके पास कोई सेना नहीं हैं और उनकी सुरक्षा दूसरे देशों के जिम्मे हैं। तो आइये जानते हैं इन देशों के बारे में।

मॉरीशस
मॉरीशस जो कि एक बहुसांस्कृतिक देश है और साल 1968 से ही यहां किसी तरह की कोई सेना नहीं है। हालांकि यहां 10,000 पुलिस कर्मी हैं, जो आंतरिक और बाहरी दोनों तरह की सुरक्षा की जिम्मेदारी संभालते हैं।

weird country,country have no army,no army on the border,other countries protect border ,अनोखे देश, इन देशों में सेना नहीं, बॉर्डर पर सेना नहीं, इनकी सुरक्षा दूसरे देशों के जिम्मे

आइसलैंड
साल 1869 से ही यूरोप के दूसरे सबसे बड़े द्वीप आइसलैंड में भी कोई सेना नहीं है। यह देश नाटो का सदस्य है और इसकी सुरक्षा की जिम्मेदारी अमेरिका की है।

कोस्टा रिका
1948 में यहां कोस्टा रिका में भयंकर गृहयुद्ध छिड़ गया था, जिसके बाद इस देश ने अपनी सेना समाप्त कर दी। यह देश बिना सेना के चलने वाले बड़े देशों में शुमार है। हालांकि यहां आंतरिक मामलों को सुलझाने के लिए पुलिस है।

weird country,country have no army,no army on the border,other countries protect border ,अनोखे देश, इन देशों में सेना नहीं, बॉर्डर पर सेना नहीं, इनकी सुरक्षा दूसरे देशों के जिम्मे

वैटिकन सिटी
यह दुनिया का सबसे छोटा देश है, उसके पास किसी तरह की कोई आर्मी (सेना) नहीं है। यहां पहले नोबल गार्ड हुआ करते थे, लेकिन साल 1970 में इस संस्था को ध्वस्त कर दिया गया। इस देश की सुरक्षा की जिम्मेदारी इतालवी सेना की है।

मोनैको
मोनैको में 17वीं शताब्दी से ही किसी तरह की कोई सेना नहीं है। हालांकि यहां दो छोटी-छोटी फौजी टुकड़ियां हैं, जिसमें से एक राजकुमार की सुरक्षा करती है और एक नागरिकों की। फ्रांस की सेना इसे सुरक्षा प्रदान करती है।

Leave a Comment