दुनिया में पासपोर्ट केवल चार रंग के होते हैं, और ये है कारण

हमें यह पता चला है कि दुनिया में पासपोर्ट के केवल चार प्राथमिक रंग हैं, और प्रत्येक देश के पास कवर के लिए इन रंगों में से किसी एक को चुनने के अपने कारण हैं। आइए जानते है:

लाल

यह सबसे कॉमन रंग है। लाल कवर वाले पासपोर्ट अक्सर ऐतिहासिक या वर्तमान कम्युनिस्ट सिस्टम वाले देशों द्वारा चुने जाते हैं। स्लोवेनिया, चीन, सर्बिया, रूस, लातविया, रोमानिया, पोलैंड और जॉर्जिया के नागरिकों के पास लाल पासपोर्ट हैं। क्रोएशिया को छोड़कर यूरोपीय संघ के सदस्य देश भी बरगंडी और लाल रंग के अन्य शेड के पासपोर्ट का उपयोग करते हैं। तुर्की, मैसेडोनिया और अल्बानिया जैसे यूरोपीय संघ में शामिल होने के इच्छुक देशों ने कुछ साल पहले अपने पासपोर्ट का रंग बदलकर लाल कर दिया था। एंडियन कम्युनिटी ऑफ नेशंस – बोलीविया, कोलम्बिया, इक्वाडोर, और पेरू – में भी बरगंडी पासपोर्ट हैं।

ब्लू

ब्लू कलर “नई दुनिया” का प्रतीक है। 15 कैरिबियन देशों में ब्लू पासपोर्ट हैं। दक्षिण अमेरिकी देशों के ब्लॉक के अंदर ब्लू पासपोर्ट कवर एक ट्रेड यूनियन – मर्कोसुर के साथ संबंध का प्रतीक है । इसमें ब्राजील, अर्जेंटीना और पैराग्वे शामिल हैं। वेनेजुएला यहां अपवाद है: यह भी संघ से संबंधित है, लेकिन इसके नागरिकों के पास लाल पासपोर्ट हैं। अमेरिकी नागरिकों के पासपोर्ट को 1976 में बदलकर ब्लू कर दिया गया था।

ग्रीन

ज्यादातर मुस्लिम देशों में हरे रंग के पासपोर्ट हैं। उदाहरणों में मोरक्को, सऊदी अरब और पाकिस्तान शामिल हैं। हरे रंग को पैगंबर मोहम्मद का पसंदीदा रंग माना जाता है, और यह प्रकृति और जीवन का प्रतीक है। कई पश्चिम अफ्रीकी देशों के नागरिकों – उदाहरण के लिए, बुर्किना फासो, नाइजीरिया, नाइजर, आइवरी कोस्ट, और सेनेगल – में भी पासपोर्ट में हरे रंग के विभिन्न शेड हैं। उनके मामले में, यह रंग दर्शाता है कि वे ECOWAS (पश्चिम अफ्रीकी राज्यों के आर्थिक समुदाय) से संबंधित हैं।

ब्लैक

सबसे कम पासपोर्ट काले कवर वाले होते हैं। ये कुछ अफ्रीकी देशों के नागरिकों – बोत्सवाना, जाम्बिया, बुरुंडी, गैबॉन, अंगोला, चाड, कांगो, मलावी और अन्य पास पाए जा सकते हैं। न्यूजीलैंड के नागरिकों के पास भी काले रंग के पासपोर्ट कवर हैं, क्योंकि ब्लेक न्यूजीलैंड का राष्ट्रीय रंग है।

Leave a Comment