34 साल में इतना बदल गया इस एक्ट्रेस का लुक, 48 साल की उम्र में भी है अनमैरिड

4 नवंबर, 1971 को जन्मीं तब्बू का असली नाम तबस्सुम फातिमा हाशमी है। बता दें कि फिल्मी बैकग्राउंड से होने की वजह से तब्बू बचपन से ही फिल्मों में काम करना चाहती थी। उन्होंने डायरेक्टर देव आनंद की फिल्म ‘हम नौजवान’ से डेब्यू किया था। इस समय तब्बू की उम्र मात्र 14 साल थी। इस फिल्म उन्होंने देव आनंद की बेटी का रोल प्ले किया था। फिल्म में तब्बू ने एक रेप विक्टम का किरदार निभाया था। कई सुपरहिट फिल्मों में काम करने वाली तब्बू 48 की उम्र में भी अनमौरिड हैं। इसके लिए वो एक्टर अजय देवगन को जिम्मेदार मानती हैं। तब्बू ने एक इंटरव्यू में अपने सिंगल स्टेटस को लेकर बात की थी।

80 और 90 के दशक की एक्ट्रेस फराह नाज, तब्बू की बड़ी बहन हैं। वो शबाना आजमी की भतीजी हैं।

80 और 90 के दशक की एक्ट्रेस फराह नाज, तब्बू की बड़ी बहन हैं। वो शबाना आजमी की भतीजी हैं।

तब्बू ने बताया था, 'अजय देवगन और मैं एक-दूसरे को 25 साल से जानते हैं। वे मेरे कजिन समीर आर्या के पड़ोसी हैं और मेरे काफी अच्छे दोस्त भी हैं।

तब्बू ने बताया था, ‘अजय देवगन और मैं एक-दूसरे को 25 साल से जानते हैं। वे मेरे कजिन समीर आर्या के पड़ोसी हैं और मेरे काफी अच्छे दोस्त भी हैं।

तब्बू का कहना था, अजय मेरी जिदंगी में तबसे हैं, जबसे मैंने करियर में बढ़ना शुरू किया और उन्होंने ही हमारे रिश्ते की नींव रखी थी।

तब्बू का कहना था, अजय मेरी जिदंगी में तबसे हैं, जबसे मैंने करियर में बढ़ना शुरू किया और उन्होंने ही हमारे रिश्ते की नींव रखी थी।

तब्बू ने बताया था, 'उन दिनों समीर और अजय मेरे ऊपर खूब निगरानी रखते थे और मुझे हर जगह फॉलो किया करते थे और जब भी कोई लड़का मुझसे बात करने आता तो दोनों उनको पीटने की धमकी तक दे देते थे। दोनों काफी बदमाश थे और अगर आज मैं सिगंल हूं तो वो सिर्फ अजय की वजह से ही हूं'।

तब्बू ने बताया था, ‘उन दिनों समीर और अजय मेरे ऊपर खूब निगरानी रखते थे और मुझे हर जगह फॉलो किया करते थे और जब भी कोई लड़का मुझसे बात करने आता तो दोनों उनको पीटने की धमकी तक दे देते थे। दोनों काफी बदमाश थे और अगर आज मैं सिगंल हूं तो वो सिर्फ अजय की वजह से ही हूं’।

तब्बू फिल्मों में अभी भी एक्टिव हैं। उन्होंने 'विजयपथ' (1994), 'माचिस' (1996), 'विरासत' (1997), 'हु तू तू' (1999), 'अस्तित्व' (2000), 'चांदनी बार' (2001), 'मकबूल' (2003), 'चीनी कम' (2007) 'द नेमसेक' (2007), 'हैदर' (2014) और 'दृश्यम' (2015) जैसी कई फिल्मों में काम किया है। उन्हें बेस्ट एक्ट्रेस कैटेगरी में 2 नेशनल अवॉर्ड्स भी मिल चुके हैं।

तब्बू फिल्मों में अभी भी एक्टिव हैं। उन्होंने ‘विजयपथ’ (1994), ‘माचिस’ (1996), ‘विरासत’ (1997), ‘हु तू तू’ (1999), ‘अस्तित्व’ (2000), ‘चांदनी बार’ (2001), ‘मकबूल’ (2003), ‘चीनी कम’ (2007) ‘द नेमसेक’ (2007), ‘हैदर’ (2014) और ‘दृश्यम’ (2015) जैसी कई फिल्मों में काम किया है। उन्हें बेस्ट एक्ट्रेस कैटेगरी में 2 नेशनल अवॉर्ड्स भी मिल चुके हैं।

Leave a Comment