स्लोवाकिया: एक ऐसा अजीब देश, जिसकी रोचक बातें आपको कर देंगी हैरान

स्लोवाकिया यूरोप महाद्वीप में स्थित एक ऐसा देश है, जो चारों तरफ से जमीन से घिरा हुआ है यानी इसकी किसी सीमा पर समुद्र या महासागर नहीं है। उत्तर में पोलैंड, दक्षिण में हंगरी, पूर्व में यूक्रेन और पश्चिम में चेक गणराज्य और ऑस्ट्रिया से घिरा यह देश 1993 में चेकोस्लोवाकिया से अलग होने के बाद बना था। इस देश से जुड़ी ऐसी कई रोचक बातें हैं, जिसके बारे में बहुत कम ही लोग जानते होंगे। आज हम आपको स्लोवाकिया से जुड़ी ऐसी खास बातें बताने जा रहे हैं, जिसे जानकर शायद आप भी हैरान हो जाएंगे। 

यूरोपीय महाद्वीप की दूसरी सबसे लंबी नदी ‘डेन्यूब’ स्लोवाकिया के बीच से होकर गुजरती है। 2850 किलोमीटर लंबी यह नदी 10 देशों में बहती है। नील नदी के अलावा दुनिया में शायद ही ऐसी कोई नदी हो, जो इतने सारे देशों से होकर बहती हो। 

वैसे आमतौर पर कोई भी देश अपनी राजधानी देश के बीच में रखना चाहता है, क्योंकि यह सुरक्षा की दृष्टि से अच्छा होता है, लेकिन स्लोवाकिया की राजधानी ब्रातिस्लावा दुनिया की एकमात्र ऐसी राजधानी है, जो दो देशों की सीमाओं से सटी हुई है। ब्रातिस्लावा ऑस्ट्रिया और हंगरी की सीमा को छूती है। 

स्लोवाकिया एक संसदीय गणतंत्र है, जिसकी राष्ट्रीय परिषद में 150 सदस्य होते हैं। इन सदस्यों को हर चार साल में आम चुनाव द्वारा चुना जाता है। आपको जानकर हैरानी होगी कि साल 2002 तक इस देश में सांसद राष्ट्रपति का चुनाव किया करते थे, लेकिन बाद में यहां के संविधान में संशोधन कर दिया गया। अब यहां राष्ट्रपति आम चुनावों द्वारा चुने जाते हैं। 

स्लोवाकिया एक ऐसा देश है, जो इस्लाम को धर्म नहीं मानता है। यहां धर्म की लिस्ट से इस्लाम का नाम हटा दिया गया है। इसको लेकर साल 2016 में यहां की सरकार ने एक कानून पास किया था। आपको यह जानकर इससे भी ज्यादा हैरानी होगी कि यहां 5000 के करीब मुस्लिम आबादी है, लेकिन पूरे देश में मस्जिद एक भी नहीं है। 

Leave a Comment