ग्रैहम नंबर: यदि आप इस नंबर को याद करने की कोशिश करेंगे तो आपके दिमाग में ब्लैकहोल पैदा हो सकता है

जैसा कि हम जानते हैं कि ब्लैकहोल ब्रह्मांड में खतरनाक चीजों में से एक है और एक रिपोर्ट बताती है कि इस तरह की घटना हमारे दिमाग में भी हो सकती हैं। वैज्ञानिकों का मानना ​​है कि एक नंबर जिसे ग्रैहम नंबर के नाम से जाना जाता है, वो इतन लंबा है कि यदि आप याद करने की कोशिश करते हैं तो आपके दिमाग को नुकशान हो सकता है और दिमाग में एक ब्लैक होल का निर्माण हो सकता है।

गणितज्ञ रोनाल्ड ग्रैहम इस लंबी संख्या का प्रस्ताव करने वाले पहले व्यक्ति थे। 1971 में, इस संख्या की खोज की गई थी और उसे एक गणित की समस्या के समाधान के लिए इस्तेमाल किया गया था।

यह संख्या पहली बार 1980 में गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में प्रकाशित हुई थी। ग्रैहम के नंबर को प्राप्त करने के लिए 64 स्टेप हैं और प्रत्येक स्टेप में नथ की अप-एरो नोटेशन नामक एक गणितीय प्रक्रिया शामिल है। पहले कुछ स्टेप के बाद, इस नंबर में अंक 3 लगभग 7.6 ट्रिलियन बार आता हैं। वेबसाइट फिजिक्स एस्ट्रोनॉमी बताती है, “अगर आप ग्रैहम के नंबर को याद करने की करने की कोशिश करते हैं, तो आपके दिमाग में एक ब्लैकहोल बन जाएगा, क्योंकि आपका दिमाग इस नंबर को पूरा स्टोर करने की क्षमता नहीं रखता है।”

Leave a Comment