10वीं सदी का खतरनाक फैशन, खूबसूरती के लिए पैरों को तोड़कर देती थीं ऐसा आकार

आजकल का ज़माना फैशन के लिए जाना जाता हैं जिसके लिए लोग क्या कुछ नहीं कर गुजरते हैं। लेकिन ऐसा नहीं हैं फैशन के प्रति दीवानगी आज के समय में ही पनपी हैं जबकि पहले के समय में यह दीवानगी कुछ इस कदर थी जिसने सभी हदें पार कर दी थी। हम आज बात कर रहे हैं चीन में 10वीं सदी के फैशन के तरीकों की जहां फैशन के खतरनाक ट्रेंड को अपनाया था। यहां महिलाएं खूबसूरती के लिए पैरों को तोड़कर ऐसा आकार देती थी जिसने जान आप भी सहन उठेंगे।

फुट बाइंडिंग चीन में एक फैशन की प्रथा थी जो 1,000 वर्षों पहले चलती थी। 10 वीं से 20 वीं शताब्दी तक, इसे इतिहास की सबसे खतरनाक फैशन प्रवृत्तियों में से एक माना जाता है। सदियों से, छोटे, घुमावदार पैर चीनी संस्कृति में सुंदरता का प्रतीक थे, और पैर-बंधन की विचित्र परंपरा को मां से बेटी, पीढ़ी दर पीढ़ी में अपनाया गया था। जिससे कई चिकित्सा समस्याएं पैदा हुईं और कुछ मामलों में महिलाओं की मृत्यु भी हुई।

weird news,weird incident,weird idea of beauty,china,foot binding ,अनोखी खबर, अनोखा मामला, खूबसूरती का अनोखा तरीका, चीन, फुट बाइंडिंग

माना जाता है कि फुट-बाइंडिंग की प्रथा सम्राट ली यू के शासनकाल में 970 ई के दौरान शुरू हुई । कथित तौर पर, सम्राट के पसंदीदा पत्नी, याओ-नियांग ने अपने पैरों को चंद्रमा के आकार में बांधा और सम्राट के सामने कमल पर अपने पैरों के अंगूठों के बल पर नृत्य किया। अन्य उपपत्नीयां भी सम्राट को प्रभावित करना चाहती थीं और फिर सभी ने याओ-नियांग की नकल करना शुरू कर दिया।

ये जल्द ही फैशन ट्रेंड बन गया और दक्षिण चीन में उच्च वर्ग की महिलाओं द्वारा अपनाया गया और धीरे-धीरे पुरे देश में फैल गया। जबकि शुरुआत में इसे उच्च सामाजिक स्थिति और धन का प्रतीक माना जाता था, और फिर यह सभी महिलाओं के लिए एक तरह से अनिवार्य हो गया।

यह दर्दनाक प्रक्रिया आम तौर पर चार साल की उम्र से नौ साल में शुरू कर दी जाती थी, और इस फैशन को प्राप्त करने का केवल एक ही तरीका था, पैरों की हड्डियों को तोड़कर उन्हें आकार देना। अलग-अलग क्षेत्रों में पैरों को आकर देने की विधि भिन्न थी। शहरी क्षेत्रों की महिलाओं में यह सबसे आम था क्योंकि किसान समुदायों की महिलाओं इस फैशन को कम अपनाती थीं क्योंकि उन्हें खेतों में काम करने की आवश्यकता होती थी।

weird news,weird incident,weird idea of beauty,china,foot binding ,अनोखी खबर, अनोखा मामला, खूबसूरती का अनोखा तरीका, चीन, फुट बाइंडिंग

दर्दनाक प्रक्रिया के कारण कई जटिलताएं थीं, जिससे संक्रमण, गैंग्रीन और कई मामलों में आजीवन विकलांगता भी हो जाती थी, जो आखिर में मृत्यु का कारण भी बनीं। हालांकि चीन में फुट बाइंडिंग पर प्रतिबंध लगा दिया गया था। 1911 में कई महिलाओं और लड़कियों ने फिर भी अपने पैरों में बाइंडिंग कराई थी। 1950 के दशक में, एंटी-फुट-बाइंडिंग इंस्पेक्टर अक्सर लोगों के घरों में महिलाओं के पैरों पर जबरन बाइंडिंग हटाने के लिए आते थे।

कई महिलाओं को बाद में परंपरा अपनाने का पछतावा भी हुआ। चीन की एक बूढ़ी महिला झोउ गुइजेन, जो चीन में इस फैशन को अपनाने वाली आखिरी महिलाओं में से एक थी, ने एक साक्षात्कार में कहा था, “मैं नृत्य नहीं कर सकती, मैं ठीक से नहीं चल सकती। मुझे इसका बहुत पछतावा है। लेकिन उस समय, यदि पैर नहीं तोड़ती, तो कोई भी मुझसे शादी नहीं करता। “

Leave a Comment