करोड़ों के बंगले में रहता है साउथ का ये सुपरस्टार, देखें, ड्राइंग रूम से पार्किंग तक की PHOTOS

22 अगस्त, 1955 को आंध्र प्रदेश के मोगलथुर में जन्मे चिरंजीवी का असली नाम कोन्निडेला शिवशंकर वर प्रसाद है। चिरंजीवी फिलहाल हैदराबाद के पॉश इलाके जुबली हिल्स में रहते हैं। यहां उनका आलीशान बंगला है, जिसकी कीमत करीब 38 करोड़ रुपए है। बंगले में एंटर होते ही बेहद बड़ा सीटिंग एरिया है, जिसमें बड़े-बड़े झूमर लगे हुए हैं।  इस हॉल से ऊपर जाने के लिए सीढ़ियां बनी हुईं है। बंगले में एक्सट्रा सीटिंग, बेडरूम, पोर्च, पार्किंग एरिया है। घर के अंदर शानदार लिविंग स्पेस, डाइनिंग रूम, किचन सहित अन्य फैसिलिटीज हैं। 

बाहर से ऐसा दिखता है चिरंजीवी का बंगला : चिरंजीवी ऐसे पहले इंडियन एक्टर हैं, जिनकी अपनी वेबसाइट है। चिरंजीवी की दो फिल्मों को 'स्वयम् कृषि' और 'पसिवडी प्रणाम' को रशियन में भी डब किया गया है।

बाहर से ऐसा दिखता है चिरंजीवी का बंगला : चिरंजीवी ऐसे पहले इंडियन एक्टर हैं, जिनकी अपनी वेबसाइट है। चिरंजीवी की दो फिल्मों को ‘स्वयम् कृषि’ और ‘पसिवडी प्रणाम’ को रशियन में भी डब किया गया है।

चिरंजीवी के घर का ड्राइंग रूम : चिरंजीवी तमिल, तेलुगु और कन्नड़ के अलावा हिंदी में भी कई फिल्में कर चुके हैं।

चिरंजीवी के घर का ड्राइंग रूम : चिरंजीवी तमिल, तेलुगु और कन्नड़ के अलावा हिंदी में भी कई फिल्में कर चुके हैं।

एक्स्ट्रा सीटिंग एरिया :  'न्यायम कावली'(1981), ' Mondi Ghatam' (1982), 'स्वयं कृषि' (1987), 'गैंग लीडर' (1991) और 'इन्द्रा' (200) जैसी साउथ इंडियन फिल्मों में काम किया है।

एक्स्ट्रा सीटिंग एरिया : ‘न्यायम कावली'(1981), ‘ Mondi Ghatam’ (1982), ‘स्वयं कृषि’ (1987), ‘गैंग लीडर’ (1991) और ‘इन्द्रा’ (200) जैसी साउथ इंडियन फिल्मों में काम किया है।

सीटिंग एरिया : बॉलीवुड की बात करें तो 'प्रतिबंध' (1990) और 'आज का गुंडाराज' (1996) में चिरंजीवी ने काम किया है।

सीटिंग एरिया : बॉलीवुड की बात करें तो ‘प्रतिबंध’ (1990) और ‘आज का गुंडाराज’ (1996) में चिरंजीवी ने काम किया है।

बंगले का आउटसाइड एरिया : चिरंजीवी करीब 10 बार फिल्मफेयर (साउथ) अवॉर्ड जीत चुके हैं।

बंगले का आउटसाइड एरिया : चिरंजीवी करीब 10 बार फिल्मफेयर (साउथ) अवॉर्ड जीत चुके हैं।

बेडरूम : भारत सरकार चिरंजीवी को देश का तीसरा सबसे बड़ा सम्मान पद्मभूषण दे चुकी है।

बेडरूम : भारत सरकार चिरंजीवी को देश का तीसरा सबसे बड़ा सम्मान पद्मभूषण दे चुकी है।

बेडरूम : चिरंजीवी कॉमर्स में ग्रेजुएशन करने के बाद चेन्नई आ गए थे और मद्रास फिल्म इंस्टीट्यूट (1976) में एडमिशन लिया था।​

बेडरूम : चिरंजीवी कॉमर्स में ग्रेजुएशन करने के बाद चेन्नई आ गए थे और मद्रास फिल्म इंस्टीट्यूट (1976) में एडमिशन लिया था।​

पार्किंग एरिया : चिरंजीवी की 1992 में आई फिल्म 'घराना मोगुडु' ऐसी पहली तेलुगु फिल्म है, जिसने बॉक्स ऑफिस पर 10 करोड़ रुपए की कमाई की थी।

पार्किंग एरिया : चिरंजीवी की 1992 में आई फिल्म ‘घराना मोगुडु’ ऐसी पहली तेलुगु फिल्म है, जिसने बॉक्स ऑफिस पर 10 करोड़ रुपए की कमाई की थी।

Leave a Comment