शादी के लिए नहीं मिला सिंदूर तो लिपस्टिक से भरी थी पत्नी की मांग, ऐसी है शम्मी कपूर की लव स्टोरी

शम्मी कपूर का जन्म 21 अक्टूबर, 1931 को मुंबई में हुआ था। इनका नाम पहले शमशेर रखा गया था। एक्टर का बचपन पेशावर में बीता, जो कि बंटवारे के बाद अब पाकिस्तान का हिस्सा है। इसके साथ ही वे कई सालों तक कोलकाता में भी रहे। इसके बाद उन्होंने मुंबई में अपनी पढ़ाई पूरी की। शम्मी की लाइफ में सफलता के साथ-साथ उनके अफेयर के चर्चे भी खूब रहे हैं। 

बेली डांसर के साथ रिलेशनशिप में थे

शम्मी कपूर करियर शुरू करने से पहले अपने पिता पृथ्वीराज कपूर की थिएटर कंपनी से जुड़े। साल 1953 में उनकी पहली फिल्म ‘जीवन ज्योति’ रिलीज हुई। शम्मी मिस्र की फेमस बेली डांसर के साथ रिलेशनशिप में थे, लेकिन जब वह वापस अपने देश लौट गईं तो दोनों का रिश्ता खत्म हो गया। 

गीता बाली की लिपस्टिक से भरी थी मांग

मीडिया रिपोर्ट्स की मानें तो शम्मी कपूर बेली डांसर से रिश्ता टूटने के बाद फेमस एक्ट्रेस गीता बाली के नजदीक आए। दोनों का प्यार परवान चढ़ा और उन्होंने शादी का फैसला किया। हालांकि, कपूर परिवार इस रिश्ते के खिलाफ था। ऐसे में दोनों ने गुपचुप तरीके से मंदिर में शादी की थी। मीडिया रिपोर्ट्स में कहा जाता है कि इस दौरान उनके पास सिंदूर भी नहीं था ऐसे में शम्मी कपूर ने गीता बाली की लिपस्टिक से मांग भरी थी। शादी के बाद जब दोनों शम्मी के घर पहुंचे तो परिवार वाले नाराज रहे लेकिन बाद में उन्होंने इनकी शादी को सहमति दे दी। शम्मी और गीता को दो बच्चे हुए। इस हैपी कपल की शादी को 10 साल ही हुए थे कि गीता बाली को चेचक हो गया और उनकी हालत इतनी बिगड़ गई कि उन्होंने साल 1965 में दुनिया को अलविदा कह दिया। 

डिप्रेशन में चले गए थे शम्मी

गीता की मौत के बाद शम्मी डिप्रेशन में चले गए थे। उन्होंने खुद का ध्यान रखना छोड़ दिया। वह कई बार खाना तक नहीं खाते थे। साथ ही गम भूलने के लिए उन्होंने शराब का सहारा लिया। हालांकि, बाद में शम्मी की नजदीकियां मुमताज से बढ़ी और उन्होंने एक्ट्रेस को प्रपोज किया लेकिन मुमताज ने इनकार कर दिया। कहा जाता है कि मुमताज का करियर तेजी से बढ़ रहा था और शम्मी ने मुमताज को पहले ही बता दिया था कि शादी के बाद उन्हें ऐक्टिंग छोड़नी पड़ेगी, जो एक्ट्रेस को मंजूर नहीं था। प्रपोजल ठुकराए जाने के बाद शम्मी कपूर ने कसम खाई की वह किसी भी एक्ट्रेस से अब शादी नहीं करेंगे।  

दूसरी शादी के लिए रखी थी ये शर्त

शम्मी ने दूसरी शादी करने से इनकार कर दिया था, लेकिन घरवालों ने उन्हें बच्चों का हवाला दिया। इसके बाद उनका रिश्ता गुजरात के भावनगर की पुरानी रॉयल फैमिली की नीला देवी से तय कर दिया गया। शादी से पहले शम्मी ने यह शर्त रखी कि नीला कभी मां नहीं बनेंगी और उन्हें पहली पत्नी से हुए बच्चों का ध्यान रखना होगा। इस शर्त को मानने के बाद दोनों की शादी हुई।

शम्मी ने 8 साल पहले दुनिया को कह दिया था अलविदा 

शम्मी कपूर को साल 2011 में 7 अगस्त को गुर्दे की बीमारी के कारण भर्ती किया गया। उनकी हालत तेजी से बिगड़ी और उन्हें वेंटिलेटर सपॉर्ट दिया गया। 14 अगस्त 2011 को उनका इलाज के दौरान निधन हो गया।

Leave a Comment