ये 7 जड़ी बूटियां आपके दिमाग को कंप्यूटर से भी तेज़ बना सकती हैं

मस्तिष्क को तेज बनायें ये उपाय

.

जैसे जैसे संसार बदलना वैसे वैसे परिस्थिति, खानपान, रहन सहन और विचारधारा इत्यादि सब बदला. बदलते संसार के साथ प्रतियोगिता की भावना भी बढ़ी इसलिए हर व्यक्ति आज एक दुसरे से आगे बढ़ने का प्रयास करना चाहता है. किन्तु सिर्फ सोचने से तो कुछ नहीं होता बल्कि उसे करना पड़ता है और ऐसा करने के लिए जरूरत होती है तेज दिमाग की, एक संतुलित विचारधारा की, धैर्य की और याददाश्त को तेज करने की. इन सबके होते हुए ही आप आत्मविश्वास के साथ हर कठिन राह को भी सरल करके उसे पर कर पाते हो. तो आज हम आपको कुछ ऐसे उपाय और टोनिक बताने जा रहे है जिनका इस्तेमाल कर आप अपने मस्तिष्क को साधारण से बेहतर बना सकते हो.

Dalchini

.1. दालचीनी
कहने को दालचीनी एक सिर्फ एक मसाला है लेकिन ये एक बहुत बढ़िया जड़ी बूटी भी है। यदि रात को सोने से पहले नियमित रूप से एक चुटकी दालचीनी का पाउडर शहद के साथ मिलाकर ले तो इससे मानसिक तनाव में राहत मिलती है और दिमाग भी तेज होता है।

.

Spikenard

2,जटामांसी ( Spikenard ) : आयुर्वेद में जटामांसी का इस्तेमाल अनेक रोगों से मुक्ति के लिए किया जाता है क्योकि ये अनेक तरह के औषधिय गुणों से भरी होती है. मस्तिष्क की क्षमता को बढाने के लिए तो इसे रामबाण इलाज माना जाता है. इससे ना सिर्फ दिमाग तेज होता है बल्कि याददाश्त भी तेज होती है. इसका इस्तेमाल करने के लिए आप 1 कप गर्म दूध लें और उसमें 1 चम्मच जटामांसी को अच्छी तरह मिला लें. उसके बाद आप इसका सेवन करें. आप इस उपाय को दिन में 2 बार अपनाएँ.

कैसे हल्दी बनती है दिमाग को तेज…

TURMURIC

3. हल्दी:  भारत के हर घर में प्रयोग होने वाली हल्दी न केवल कैंसर के इलाज में अचूक औषधि है बल्कि यह दिमाग को भी स्वस्थ रखने में मदद करती है। कैलिफोर्निया यूनिवर्सिटी में हुए एक शोध के अनुसार, हल्दी में कुरकुमीन नामक एक रसायन पाया जाता है जो की दिमाग की मृत या निष्क्रिय कोशिकाओं को सक्रीय करने में सहायक होता है।

.
shankhpuspi

4.शंख पुष्‍पी:  दिमाग की शक्ति को बढ़ाने के लिए शंखपुष्पी के बहुत ही बढ़िया औषधि है। दिमाग को तेज करने के लिए रोज आधा चम्मच शंख पुष्पी को एक कप गरम पानी में मिला कर लें। यह दिमाग में रक्त का सही संचार करती है जिससे याद करने की क्षमता और सीखने की क्षमता को भी बढ़ाती है।

क्यों तुलसी दिमाग को तेज करने के काम आती है…

tulsi

5. तुलसी: तुलसी एक जानी-मानी एंटीबायोटिक जड़ी बूटी है। इसमें मौजूद शक्तिशाली एंटीऑक्‍सीडेंट तत्व मष्तिष्क और हृदय में रक्त के प्रवाह को बेहतर करते है। इसलिए तुलसी को एक उत्तम औषधि के रूप में जाना जाता है।

.
brahmi

6. ब्राह्मी: बाह्मी दिमाग तेज करने वाली सबसे उत्तम औषधियों में एक है। इसके नियमित प्रयोग से स्मरण शक्ति याद्दास्त बढती है। एक चम्मच शहद और आधा ब्राह्मी गर्म पानी में मिलाकर पीने से दिमाग तेज होता है।

यह भी जाने – ब्राह्मी के गुण

kesar

7. केसर ( Saffron ) : अनिद्रा, तनाव, डिप्रेशन, क्रोध इत्यादि को दूर करने के लिए केसर का इस्तेमाल किया जाता है और जब ये सब चीजें दिमाग को छोड़कर निकल जाती है तो दिमाग को राहत मिलती है और वो उलझनों से बाहर निकल जाता है. इस तरह उसकी कार्यक्षमता और सोचने व स्मरण रखने की शक्ति अपने आप बढ़ने लगती है इसलिए हर व्यक्ति को रोजाना केसर का इस्तेमाल करना चाहियें.

अचूक नुस्खा ( Surefire Tip ) : इस नुस्के के अनुसार आप 50 – 50 ग्राम की मात्रा में आंवला, शंखपुष्पी, जटामांसी, बाह्मी और गियोल को लें लें और उन्हें सुखाकर अच्छी तरह से पीसकर चूर्ण तैयार करें. आप इस चूर्ण को रोजाना 3 बार ग्रहण करें. इसे लेने के लिए आप पानी, शहद या फिर आंवले का शरबत कुछ भी इस्तेमाल कर सकते हो. ये एक ऐसा उपाय है जिसे हर उम्र का व्यक्ति इस्तेमाल कर सकता है बस बच्चों को इसका सेवन कराते वक़्त इसकी मात्रा को कम कर दें. गर्भवती महिलाओं को तो गर्भावस्था में इसका सेवन जरुर करना चाहियें क्योकि ऐसा करने से शिशु का मानसिक विकास तेजी से होता है.

Leave a Comment